ये 4 इंडियन बल्लेबाज हद कर दिए, कैरियर खत्म हो गया है फिर भी संन्यास का नाम नहीं ले रहे हैं

0
 Crictox न्यूज: भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में चयन बहुत ही कठिन माना जाता है किन्तु इससे भी ज्यादा कठिन काम है खिलाड़ियों को सेलेक्शन के बाद टीम में बरकरार रहना होता है। टीम के बाहर भी कई ऐसे शानदार खिलाड़ी होते हैं जो सेलेक्टेड प्लेयर्स को जमकर टक्कर देते हैं और लोगों के बीच अपने शानदार प्रदर्शन का जलवा बिखेर देते हैं। भारत में कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिनका टेस्ट करियर से संन्यास लेने का वक्त आ गया है फिर भी वे लोग इस कदर  हद कर दिए हैं कि टीम छोड़ने का नाम ही नही लेते हैं। इनमें से 4 भारतीय बल्लेबाज विशेष रूप से उल्लेखनीय है। जिनके बारे में हम आगे क्रम से जानेंगे।
Image Source: Twitter handle
The Great Indian cricketer 

1.शिखर धवन: Shikar Dhawan


नि:संदेह शिखर धवन एक अच्छे खिलाड़ी है। मैच के सभी फार्मेट में इनका प्रदर्शन गज़ब का रहा। जब साल 2013  में भारत vs आस्ट्रेलिया का मैच हुआ तब शिखर ने अपने डेब्यू मैच में ही शतक लगाकर सबको चौंकाने वाली पारी खेली। लेकिन वही 5 साल बाद इंग्लैंड के साथ मुकाबले में उनका परफार्मेंस गड़बड़ रहा जिसके कारण उन को टीम से बाहर का रास्ता देखना पड़ा। अगर हम शिखर धवन के करियर पर बात करें तो धवन अभी तक 34 टेस्ट खेल चुके हैं। इन मैचों में 40.62 के औसत से कुल 2315 रन का संग्रह बनाया जिसमें 7 शतक और 5 अर्धशतक शामिल हैं। अगर बात करें हाई स्कोर की तो शिखर का हाई स्कोर 190 रन है। धवन अब पूर्ण रूप से 36 वर्ष के हो गए हैं और इनका टेस्ट क्रिकेट से बल्लेबाज के रूप में संन्यास लेने का समय आ गया पर शिखर है की ऐसा करने पर कभी सोचते ही नही।

 

2. मुरली विजय: Murali Vijay

 मुरली विजय अपने टेस्ट डेब्यू से ही अपना बढ़िया प्रदर्शन देकर लोगों के बीच जलवे बिखेरने लगे। मुरली का टेस्ट डेब्यू  2008 के नवम्बर में हुआ। इस डेब्यू मैच में मुरली विजय ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला और सबके दिलों पर छा गए। इसके 10 साल बाद 2018  मुरली ने एक बार फिर आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला लेकिन इस बार उनका प्रदर्शन काफी कमजोर रहा जिसके कारण उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। 2008 तथा 2018 दोनों टेस्ट मैचों को देखें तो पता चलता है कि मुरली विजय पहली बार भी आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले और अंतिम बार में भी उनको आस्ट्रेलिया के ही  खिलाफ खेलने का मौका मिला।
Murali Vijay photo
Image Source: Google
Edited by Crictox team

बात करें मुरली विजय के मैच करियर की तो इन्होंने अबतक 61 टेस्ट मैच खेला जिसमें 38.3 के औसत के साथ 3982 रन बनाकर अपार सफलता प्राप्त की। इन सभी के दौरान मुरली ने 12 शतक और 15 अर्धशतक भी दिया। मुरली विजय की उम्र 37 साल हो गयी है और अब इनका टीम इंडिया में जगह पाना दूर दूर तक नामुमकिन दिखाई पड़ रहा है। इसका एक अन्य कारण भी है कि वो काफी दिन से कोई मैच नही खेल रहे हैं। ऐसी स्थिति में तो उनको संन्यास की तरफ सोचना चाहिए लेकिन ये खिलाड़ी क्रिकेट छोड़ने का नाम नहीं ले रहा है।

3. करूण नायर : Karuna Nyre


वे खिलाड़ी जो समय के साथ क्रिकेट से संन्यास लेने का नाम नहीं ले रहे हैं उनमें से एक प्रमुख नाम करूण नायर का भी है। करूण नायर ने टेस्ट मैचों में अपना पदार्पण नवंबर 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ किया था। इस समय इनका प्रदर्शन बहुत अच्छा चल रहा था। इसी बीच करूण नायर ने चेन्नई में आयोजित इंडिया vs इंग्लैंड  मैंच में लगातार तीन शतक लगाकर इतिहास रच दिया। तब सभी ने सोचा की करूण नायर इंडिया टीम के लिए एक नायाब हीरा है। लेकिन आगे के मैचों में उनका परफार्मेंस कमजोर होता गया जिसके कारण उनको टीम से बाहर निकाल दिया गया।
Image Source: Google
Edited by Crictox team

मार्च 2017 में नायर ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना अंतिम मैच खेला। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में सिर्फ 6 टेस्ट खेले जिनमें 62.3 के औसत को लेकर 374 रन ही बना पाए। इनका हाई स्कोर 303 रन है। किंतु अब करूण नायर का क्रिकेट से विदाई लेने का समय आ गया है फिर भी वे क्रिकेट को अलविदा कहना नहीं चाह रहे हैं।

4. ऋद्धिमान साहा: Riddhiman Saha

Image Source: Google
Edited by Crictox team

ऋद्धिमान साहा एक बेहतर बल्लेबाज के साथ ही एक अच्छे विकेटकीपर भी हैं। इन्होंने 2010 में हुए साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच से क्रिकेट में अपना कदम रखा। ऋद्धिमान को ज्यादा मैच खेलने का मौका नहीं मिला लेकिन जो भी मौका मिला उसमें अपना बेहतर देने का प्रयास किया। इनको श्रीलंका के साथ हुई टेस्ट सीरीज के बाद टीम से बाहर कर दिया गया तब से अब तक उनको इंडिया टीम में जगह नहीं दी गई। हालांकि इनकी उम्र भी अब 37 साल की हो चुकी है और भारतीय टीम मैनेजमेंट ने भी साफ कर दिया है कि शाहा को भविष्य में कभी भी टीम में शामिल होने के चांस बहुत कम है। ऐसी स्थिति में उनके पास एक रास्ता है कि वो अब क्रिकेट से संन्यास ले लें।  लेकिन कैरियर खत्म होने के वावजूद भी वो ऐसा नही करना चाह रहे हैं। ऋद्धिमान साहा अबतक  लगभग 40 टेस्ट मैच खेल चुके हैं जिनमें उन्होंने 29.41 के औसत के साथ 1353 रन बनाए हैं। इसी दौरान इनके बल्ले ने 3 शतक और 6 अर्धशतक का भी स्वाद चखा।


तो ये थे वो 4 बल्लेबाज जिन्हे अब संन्यास लेने का समय आ गया है। ऐसे ही क्रिकेट से जुड़ी ताजा व सटीक खबरों के लिए हमारे वेबसाइट Crictox.com को follow कर जुड़े रहें।
                      

                        इसे भी जरूर देखें :-


1. एक भारतीय खिलाड़ी के साथ 2 अनोखे प्लेयर्स का करियर हुआ समाप्त ! रोहित के साथ खेले हैं ये खिलाड़ी


2.दुनिया का कोई भी बालर इंडिया के इस बल्लेबाज को Zero पर आउट नहीं कर पाया।


3. Shane Warne's Fear | इंडिया का एक ऐसा खिलाड़ी जो आस्ट्रेलियाई शेन वार्न को सपनों में डराता था


4. मैच फिक्सिंग मामले में दोषी होने पर इस भारतीय खिलाड़ी ने टेंशन में क्रिकेट से संन्यास ले लिया



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top